दुनिया के 5 सबसे बड़े गर्म रेगिस्तान की जानकारी?

दुनिया के 5 सबसे बड़े गर्म रेगिस्तान दोस्तों मरुस्थल या फिर रेगिस्तान ऐसे क्षेत्रों को कहा जाता है। जो पूरी तरीकेसे रेत से या फिर बर्फ से ढके होते है। और कुछ क्षेत्र ऐसे भी होते हैं, जहां पर ना रेत होती हैं और ना ही बर्फ होता है। तभी भी उन क्षेत्रों को रेगिस्तान कहा जाता है। रेगिस्तान एक ऐसा क्षेत्र होता है जो हजारों किलोमीटर में फैला होता है। तो दोस्तों आज हम उन्हीं में से दुनिया के 5 सबसे गर्म रेगिस्तानो के बारे में जानने वाले हैं। 

दुनिया के 5 सबसे बड़े गर्म रेगिस्तान

इन रेगिस्तानो का तापमान 38 से 40 डिग्री सेल्सियस तक होता है, जहां का तापमान कभी-कभी 50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। जिसमेसे कुछ ऐसे भी क्षेत्र होते हैं, जहां पर आपको दूर-दूर तक ना कोई पेड़ नाही कोई पौधा देखने को मिलेगा।

इन क्षेत्रों में सालों साल बारिश भी नहीं होती, अगर कभी बारिश भी हो गई तो उसे कुदरत का करिश्मा ही माना जाता है। तो चलिए दोस्तों जानते हैं दुनिया के 5 सबसे गर्म रेगिस्तान ओं के बारे में। 

5.चिहुआहुआन रेगिस्तान

दोस्तों चिहुआहुआन यह दुनिया का 5 वा सबसे गर्म रेगिस्तान है। जो मैक्सिको और अमेरिका में कुल 5 लाख 18 हजार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ रेगिस्तान है। यह बहुत ही ज्यादा गर्म और शुष्क रेगिस्तान है। यह सिरा मैडीर की शृंखलाओं ले बीच स्थित है। जिसका ज्यादातर हिस्सा 1000 से 1500 मीटर की ऊँचाई पर मौजूद है। यहाँ का औसतन तापमान 30 से 40 डिग्री सेल्सियस तक होता है। 

इस रेगिस्तान में बारिश ग्रीष्म ऋतु में ही होती है। यह एक गर्म रेगिस्तान होने के बावजूद भी आपको यहां पर वनस्पती और जीवों की संख्या देखने को मिलेंगी। और इस रेगिस्तान में खाफी खतरनाक जहरीले सांप भी पाए जाते है, जिसमेस ‘डायमंड बैक’ नामक साप भी एक है।

दुनिया के 5 सबसे बड़े गर्म रेगिस्तान

4.ऑस्ट्रेलियन रेगिस्तान

दोस्तों ऑस्ट्रेलियन रेगिस्तान दुनिया का चौथा सबसे  गर्म रेगिस्तान है। और यह कुल 15 लाख वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। 

यह रेगिस्तान तीन हिस्सों में बटा हुआ है, जिसमें से 1. चिकनी मिट्टी के समतल रेगिस्तान 2.रेतीला रेगिस्तान 3.पथरीला रेगिस्तान है। यह रेगिस्तान पहले बर्फ से ढका हुआ था और उस उसके पूर्वी क्षेत्रों में उथले सागर भी मौजूद थे। पर धीरे-धीरे यह गर्म रेगिस्तान में तब्दील हो चुका है। जहां पर दिन के समय में उच्चस्तरीय गर्म हवाएं चलती रहती है।

इस रेगिस्तान का औसतन तापमान 30 से 40 डिग्री सेल्सियस के बीच में ही रहता है। इस रेगिस्तान के साथ-साथ और भी 3 रेगिस्तानों से ऑस्ट्रेलिया पूरी तरीके से घिरा हुआ है।

3.अटाकामा रेगिस्तान

दोस्तों अटाकामा दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा गर्म रेगिस्तान है। जो उत्तरी चिली में 1लाख 40 हजार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। यह एक ऐसा रेगिस्तान है जिसका अधिकांश भाग सलारेस, रेत और गर्म बहते हुए लावा से बना हुआ है। अटाकामा रेगिस्तान को दुनिया का सबसे शुष्क रेगिस्तान माना जाता है। इस रेगिस्तान का कुछ भाग ऐसा भी है जहां पर 400 वर्षों तक वर्षा नहीं हुई थी, जिस क्षेत्र का नाम कलामा था। 

इस रेगिस्तान के कुछ भागों में मनुष्य भी निवास करते हैं। जहां पर आप को लोआ एवं कोपी नामक नदियों की द्रोणिया भी देखने को मिल सकती हैं।

अटाकामा यह रेगिस्तान भी खनिज संपत्ती से भरा हुआ है, जहां पर आपको नाइट्रेट, तांबा और चांदी की बड़ी-बड़ी खदानें आपको देखने को मिलेगी। और तो और विश्व की सबसे बड़ी तांबे की खान भी आता कामा रेगिस्तान में ही मौजूद है, जो ‘चुकीकामता’ नामक स्थान पर है।

2.अरब का रेगिस्तान

दोस्तों अरब का रेगिस्तान दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गर्म रेगिस्तान है। जो पश्चिमी एशिया में स्थित रेगिस्तान है। जो कुल 23 लाख 30 हजार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। जो इराक, कुवैत, जॉर्डन, ओमान, कतर, संयुक्त अरब, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन में यह फैला हुआ है। इस रेगिस्तान का वातावरण बहुत ही ज्यादा कठोर होता है। जहां पर दिन में अत्यंत गर्मी होती है, और रात में कड़ाके की ठंड होती है। यहां का तापमान रात के समय शून्य से भी नीचे गिर जाता है।

इस क्षेत्र में आपको बड़े-बड़े रेत के टीले और लावारस से बनी चट्टानें भी देखने को मिल सकती हैं। और तो और रेत के दलदली क्षेत्र भी इस रेगिस्तान में पाए जाते हैं। इस रेगिस्तान के जीव विविधता की बात करें तो यह काफी कम है, क्योंकि यहां पर गिने चुने ही जानवर अपना जीवन बिता पाते हैं। जिसमें से गजल, ओरिक्स प्रजाति वाले हिरण और रेगिस्तान में रहने वाली बिल्ली एवं कांटेदार धूम वाली गिरगिट जैसे जानवर पाए जाते हैं।

अरब रेगिस्तान का औसतन तापमान 30 डिग्री सेल्सियस तक होता है। और गर्मी के दिनों में इस का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस से भी ज्यादा हो जाता है।

1.सहारा रेगिस्तान

दोस्तों सहारा रेगिस्तान को कौन नहीं जानता जो इस पृथ्वी का सबसे विशाल रेगिस्तान है। जो हमारी सूची में पहले स्थान पर आता है सहारा रेगिस्तान जो दुनिया का सबसे बड़ा गर्म रेगिस्तान भी है। यह अफ्रिका के उत्तरी भाग में अटलांटिक महासागर से लाल सागर तक कुल 5,600 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है, और इसके कुल क्षेत्रफल की बात करें तो यह कुल 94 लाख वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। जिसे यूरोप महाद्वीप से जितना बड़ा माना जाता है। 

सहारा रेगिस्तान यह लगभग 30 लाख वर्ष पुराना है। यह रेगिस्तान 6000 वर्षों पहले पूरी तरीके से हरा-भरा था। सहारा रेगिस्तान का विस्तार माली, मोरक्को, अल्जीरिया, ट्यूनीशिया, लोबिया, नाइजर, चाड, सूडान और मिस्र जैसे देशों में फैला हुआ है। इस रेगिस्तान का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक होता है। और कभी-कभी यहां का तापमान 52 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।

सहारा रेगिस्तान के कुछ क्षेत्रों में आपको नदियां और हरे-भरे मैदानों के साथ खारे पानी की झीले भी देखने को मिल सकती है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *